World Health Day: तनावमुक्त खुशहाल जीवन के लिए अपनाएं ये तरीकें

0
416
views

स्वास्थ्य सभी की प्राथमिकता होनी चाहिए। स्वस्थ्य जीवन के प्रति जागरूकता फैलाने के उद्देश्य से डब्ल्यूएचओ द्वारा हर साल 7 अप्रैल को स्वास्थ्य दिवस मनाया जाता है। विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के अनुसार शारीरिक निष्क्रियता दुनियाभर में बीमारियों और विसंगतियों का चौथा सबसे बड़ा कारण है। अपनी सेहत की तरफ ध्यान न देने के कारण कामकाजी जनसंख्या खासकर युवा अधिक बैठे रहने वाली जीवनशैली, काम के दबाव, शारीरिक निष्क्रियता, खाने की अस्वास्थ्यकर आदतों आदि के कारण मोटापा, डायबिटीज, हृदयरोग और अन्य घातक बीमारियों के शिकार हो रहे हैं।

इस साल की थीम का लक्ष्य अवसाद यानी डिप्रेशन से मुकाबला करना है, जो मुख्यतः तनाव के कारण होता है। कुछ मामलों में अनाव आपकी ऊर्जा का स्तर बढ़ाकर परीक्षा या समयबद्ध कार्य जैसी परिस्थितियों में आपकी मदद करता है। हालांकि, तनाव आपकी प्रतिरोधक शक्ति, हृदय-घमनी और केन्द्रीय स्नायु तंत्र पर असर डालकर आपके शरीर, मस्तिष्क और मनोभाव पर नकारात्मक असर भी डाल सकता है। यदि दीर्घकालिक तनाव का इलाज नहीं किया जाए तो यह दुशिं्चता, अनिद्रा, उच्च रक्तचाप, हृदयरोग, अवसाद, मोटापा आदि जैसी गंभीर स्वास्थ्य समस्या का कारण बन सकता है।

कंचन नाइकवाड़ी, प्रीवेंटिव हेल्थकेयर स्पेशलिस्ट, इंडस हेल्थ प्लस का कहना है कि, ”हममें से अधिकतर लोग अपने स्वास्थ्य को बेहतर रखने के बारे में तब तक नहीं सोचते जब तक कोई स्वास्थ्य समस्या उत्पन्न नहीं होती। दिमाग में ’प्रिवेंशन बेटर देन क्योर’ का मोटो रखने से आपको अच्छा जीवन जीने में मदद मिलेगी। जीने के अस्वास्थ्यकर तरीके अपनाने से जीवनशैली संबंधी अनेक गड़बड़ी और अवसाद पैदा होता है। कोई भी व्यक्ति पर्याप्त नींद, बेहतर आहार और व्यायाम के जरिए तनाव के स्तर में कमी और बेहतर स्वास्थ्य सुनिश्चित कर सकता है। आप अंदर से खुद के बारे में जितना बेहतर महसूस करेंगे, उतने ही बेहतर तरीके से अपने तनाव को मैनेज कर सकेंगे।

तनावमुक्त रहने के लिए ये तरीके अपनाएं – 

1. जोर से हँसें: जब टेंशन में हों या स्ट्रेस महसूस कर रहे हों तो मुस्कुराने की कोशिश करें। अपना मनपसंद काॅमेडी शो देखकर खुद को खुश रखें और मजाकिया लोगों से मिलें।
2. तनावमुक्त होने के लिए व्यायाम करें: तनाव के समय बीस मिनट पैदल चलने या खुद को किसी शारीरिक गतिविधि में लिप्त रखने से मन को अच्छा महसूस होता है।
3. इनका लाभ उठायें: आपके जिस किसी शौक से, जैसे कि पेंटिंग, डांसिंग, किताबें पढ़ा आदि से आपको आंतरिक खुशी मिलती है, उनमें व्यस्त रहने से आपकी चिंता दूर रहेगी। कम से कम 20 मिनट रोजाना अपने मनपसंद शौक के काम में लगायें और फिर आपको इसका फायदा महसूस होने लगेगा।
4. ध्यान: दिन में 10 मिनट ध्यान लगाना आपको शांत और सकून में रखेगा। इससे आपको सपष्टता प्राप्त होगी और इससे आप समस्या का समाधान कर सकेंगे।
5. सामाजिक सहायता लें: अपने घनिष्ठ मित्रों और परिवार के साथ बातचीत या अपनी चिंताएँ साझा करने से आपका मन हल्का होगा और तनाव से राहत मिलेगी।

Loading...

Leave a Reply