ताइवान की भारत में बढ़ रही है व्यवसायिक भागीदारी, हुई मदद की पेशकश 

0
66
भारत से व्यावसयिक रिश्ते मजबूत करने के लिए और स्मार्ट सिटी में भागीदारी के लिए ताइवान विदेश व्यापार विकास परिषद (टीएईटीआरए) और ताइवान के आठ मशीन टूल निर्माताओं ने दिल्ली के प्रगति मैदान में मशीन टूल एक्सपो में लगातार दूसरी बार  हिस्सा लिया।
प्रदर्शनी में अग्रणी कंपनियां टोंगटाई मशीन एंड टूल कंपनी लिमिटेड, ईचेनटूल उद्योग कंपनी लिमिटेड, ह्यूनचेन मशीनरी कंपनी लिमिटेड, चेन हेडवे मशीन टूल कंपनी लिमिटेड, मेगा टेक मशीनरी प्राइवेट लिमिटेड (सिमको), हैन क्यून मशीनरी एंड हार्डवेयर कंपनी विमिटेड, 7 लीडर्स कॉर्प और कोलोवा वेंटिलेशन कंपनी लिमिटेड शामिल हुईं। इस प्रदर्शनी में कंपनियों ने विस्तृत रेंज के औद्योगिक उपकरणों का प्रदर्शन किया, जिसमें आत्याधुनिक सीएनजी मशीन सेंटर और स्प्रिंग मशीन के अलावा कई तरह की एसेससरीज शामिल थी।
प्रदर्शनी में पेरिफेरल डिवाइसेज जैसे इंडस्ट्रियल फैंस का भी प्रदर्शन किया गया। इस मौके पर तापेई इकनॉमिक और कल्चरल सेंटर के आर्थिक विभाग के निदेशक यांग ने कहा कि ताइवान की मशीन इंडस्ट्री को गुणवत्ता, दाम और सर्विसेज में विश्व स्तरीय है। स्मार्ट सिटी, मेक इन इंडिया, डिजिटल इंडिया और स्किल इंडिया जैसे कार्यक्रमों से जुड़ना हमारे लिए ख़ुशी की बात होगी और भारत को विनिर्माण क्षेत्र में हमारी विशेषज्ञता से लाभ होगा।
प्रदर्शनी में ताइवान की प्रमुख टूल निर्माता कंपनियों ने अपने आधुनिक प्रॉडक्ट्स, नई पहल और मशीनों की समस्याओं के समाधान पेश किए। चेन हेडवे मशीन टूल ने अपने सबसे ज्यादा बिकने वाले और सबसे प्रतिस्पर्धी प्रॉडक्ट्स जैसे, पॉलिगन पेपर टूल होल्डर के साथ पीसीडी और मिरर फेस मिलिंग कटर्स का प्रदर्शन किया।  ईचेनटूल इंडस्ट्री कंपनी लिमिटेड ने ब्रैंड न्यू एमयू-जीएमएम और एमयू2-जीएमए प्रॉडक्ट को लॉन्च किया।
टोंगटाई ने लोकेश के साथ की साझेदारी
इस मौके पर टोंगटाई ने भारत की टॉप 5 मशीन टूल कंपनियों में से एक लोकेश के साथ मशीन, ईजेड-5 ड्रिलिंग एंड टैपिंग सेंटर, के निर्माण के लिए साझेदारी की। टोंगटाई ने इस मौके पर भारत में जल्द ही निवेश की भी घोषणा की। टोंगटाई के प्रबंध निदेशक रोहित राय ने कहा कि इस साझेदारी का मकसद भारत में उन्नत मॉडलों का निर्माण करना है। हमारी योजना भारत में टेक्निकल एप्लिकेशन सेंटर बनाने की है, जिससे सभी तरह की जरूरतों के लिए एक तत्काल समाधान मुहैया कराया जा सके। इसके अलावा इस मौके पर हयून चेन मशीनरी कंपनी लिमिटेड ने भारत में जल्द ही अपने पाटर्नर की तलाश करने और बिजनेस को बढ़ाने की बात कही।
भारत में ताइवान का बढ़ा कारोबार 
वर्ष 2015 से मशीन टूल एक्सपो में टीएआईटीआरए की भागीदारी के बाद ताइवान के मशीनी उपकरणों का निर्यात भारत को 1.61 फीसदी बढ़ा है। 2016 में भारत में 121 मिलियन डॉलर का निर्यात बढ़ा। 2016 के अंत तक ताइवान की करीब 90 कंपनियों ने भारत में अपने बिजनेस ऑपरेशन शुरू किए। ताइवान की कंपनियों का भारत में कुल निवेश 1.4 खरब डॉलर का था। ताइवान की कंपनियों ने भारत को आईसीटी, मेडिकल उपकरण, ऑटोमोबाइल पार्ट, मशनीरी, स्टील, इलेक्ट्रॉनिक्स, कंस्ट्रक्शन, इंजीनियरिंग और फाइनेंशियल सर्विसेज के क्षेत्र में विशेषज्ञता प्रदान की।
Loading...
loading...

Leave a Reply