fbpx

80हज़ार में एक लीटर दूध और ३लाख में एक पैकेट ब्रेड

वेनेजुएला की अर्थव्यवस्था इतनी खराब स्थिति में आ गयी है कि वहां के लोगों के लिए जीना मुश्किल हो गया है। हर तरफ चीख पुकार मची है। एक तरफ हर चीज़ों की बढ़ती कीमतों से लोग परेशान हैं तो दूसरी ओर जरूरत की वस्तुएं नहीं प्राप्त होने से। इस देश की अर्थव्यवस्था पिछले दो सालों से चारमराइ हुई है परंतु अब इसके भयंकर परिणाम सामने आ रहे हैं। लोग यहां से पलायन कर कोलम्बिया भाग रहें हैं जिससे कि कोलम्बिया परेशान है। वहां की सरकार का कहना है कि वेनेज़ूएला से दस लाख से अधिक लोग इनके देश मे अपना निवास स्थान बना लिया है जिसकी वज़ह से यहां के लोगों को भी बहुत सी दिक्कतों का सामना करना पड़ा है। वेनेज़ूएला के हालात ऐसे है कि वहां बोड़ी भर के नोट ले जाने पर केवल अपको एक समय का खाना प्राप्त हो पाएगा। ऐसा माना जा रहा है कि वहां अस्सी हज़ार में एक लीटर दूध और तीन लाख में एक पैकेट ब्रेड मिल पा रहा है। लोग परेशान हैं और उसकी वज़ह कच्चे तेल की कीमतों में तेजी से आये गिरावट को माना जा रहा है। कुछ समस्याएं सरकार की गलत नीतियो और लापरवाही का नतीज़ा है। माना जा रहा है कि वहां सेना के द्वारा कभी भी तख्तापलट की संभावना है। सारे पड़ोसी देश जैसे स्पेन, पेरू, ब्राज़ील इसके खिलाफ़ हो गए हैं। यहां के लोगों के पास खाने की चीजें तक नहीं जुट पा रही है। हर दिन सरकार के खिलाफ लोगों का गुस्सा निकल कर आ रहा है। फैली भूखमरी के खिलाफ वैश्विक स्तर पर नागरिको का प्रदर्शन किया जा रहा है पर वहां के हालात में किसी प्रकार की कोई सुधार नहीं है। वेनेज़ूएला इस संकट की घड़ी में अकेला खड़ा है और मानवता की ओर से सबसे मदद मांग रहा है अब देखना यह है कि वहां की स्थिति में कोई बदलाव आता है या नहीं।

Loading...

Leave a Reply

Loading...