शब्दों से दिलों में राज करने वाले गुलजार साहब के जन्मदिन पर सुने छू जाने वाले नग्में

0
66

‘तुझसे नाराज नहीं जिंदगी’ या ‘फिर तेरे बिना जिंदगी से कोई शिकवा..’, ‘वो शाम कुछ अजीब थी’ या ‘कोई होता जिसको अपना..’ गुलजार के लिखे गानों का कोई जवाब नहीं है। हिंदी सिनेमा में फिल्मकार, गीतकार, संवाद लेखक और साहित्यकार ये सब कुछ आपको एक ही शख्सियत में मिलेगा, जिनका नाम है गुलजार।

60 के दशक से बतौर गीतकार अपना करियर शुरू करने वाले गुलज़ार ने कई बेमिसाल फ़िल्मी गीत लिखे, हमने आपके लिए चुने हैं गुलज़ार के लिखे बेहतरीन गीत…बॉलीवुड में 1962 से गीत लिख रहे गुलज़ार बीते पांच दशकों से अपने शब्दों का सिक्का जमाए हुए हैं।
गुलज़ार ने कई सुपरहिट गाने लिखें हैं। इन सदाबहार गीतों को सुनकर आप एहसासों की एक दूसरी दुनिया में पहुंच जाएंगे।  18 अगस्त 1934 को जन्में गुलजार साहब के बेहतरीन गानें आपको जरूर सुनने चाहिए…
https://youtu.be/F3hX-yNPb2E
Loading...
loading...

Leave a Reply