fbpx

दिल्ली मेट्रो की पहली ड्राइवरलेस मेट्रो ट्रेन का परीक्षण रहा असफल, दीवार तोड़ बाहर निकली ट्रेन

दरअसल मौका था दिल्ली की पहली ड्राइवरलेस मेट्रो के परीक्षण का। यह परीक्षण मंगलवार को हुआ और असफल रहा। यह ट्रेन हादसे का शिकार हो गई। परीक्षण के दौरान यह ट्रेन पटरी से उतर गई और और दीवार को तोड़कर बाहर निकल गई। यह हादसा शाम के समय, कालिंदी कुंज डिपो के पास हुआ। 

इस हादसे मे किसी भी तरह से किसी के चोट लगने  की कोई खबर नहीं है। मेट्रो का परिचलन करने वाली संस्था डीएमआरसी ने हादसे की पूरी जिम्मेदारी लेते हुए अपनी गलती मानी है। डीएमआरसी के मुताबिक मेट्रो को परीक्षण के पहले उसको धोने के लिए लाया गया था, जिसके बाद उन्हे ब्रेक की जांच करनी चाहिए थी, जो कि उन्होने नहीं की। बिना ठीक से जाँच किए हुए ही ट्रेन को रवाना कर दिया। मिली जानकारी के अनुसार ट्रेन को आगे की ओर जाना चाहिए था पर किसी तकनीकी खराबी की वजह से ट्रेन पीछे की ओर चली गई। इसके बाद ट्रेन गति से दीवार तोड़कर कर बाहर निकल गई। 

Loading...

दिल्ली की पहली ड्राइवरलेस मेट्रो ट्रेन को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 25 दिसम्बर को हरी झंडी देंगे। 25 दिसम्बर क्रिसमस का शुभ दिन होने साथ साथ, देश के पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी जी का जन्म दिवस भी है। दिल्ली मेट्रो रेल निगम के अधिकारियों ने घटना की पुष्टि की और कहा कि किसी को भी किसी भी तरह से परेशान होने की कोई जरूरत नहीं हैं क्योंकि कोई नुकसान नहीं हुआ है। सिर्फ़ डिपो के अंदर की दीवार टूटी हैं। खबरों के अनुसार यह हादसा महज तकनीकी खराबी की वजह से हुई है। इसके बावजूद मामले की जाँच होगी और खराबी के तह तक जांच होगी ताकि 25 दिसम्बर को इसे सफलता के साथ रवाना किया जा सके। यह ट्रेन नोएडा के बोटानीकल गार्डन से साउथ दिल्ली के बीच चलेगी। इससे काफी समय की बचत होगी और लोगो को परेशानी कम होगी।

Leave a Reply

Loading...