नरेन्द्र दामोदरदास मोदी :जी की विदेश यात्राओं का उद्देश्य मात्र पिकनिक मनाने जाना है

0
433
views
क्य हामारे प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र दामोदरदास मोदी जी की विदेश यात्राओं का उद्देश्य मात्र पिकनिक मनाने जाना है?

“इन विदेश यात्राओं का कोई राजनैतिक, रणनीतिक व आर्थिक निहितार्थ न था न है व भविष्य में होगा। “
“क्या आपके अनुसार नमो तो अदूरदर्शी , अविवेकी, अराजनीति , मूर्ख, व्यर्थ की विदेश यात्राएं करने वाला, भारत के विकास का पहिया रोकने वाला महामूर्ख है।”
क्या आपके अनुसार नमो सरकार द्वारा एक वर्ष के अंदर शुरू की गई-
“मेक इन इण्डिया योजना,
स्वच्छ भारत मिशन,
आदर्श ग्राम योजना ,
डिजिटल इण्डिया,
जन धन योजना
अटल पेन्शन योजना
जीवन बीमा योजना*12₹/वर्ष =2 लाख
सुकन्या
बेटी बचाओ बेटी पढाओ “
“आदि अनेक योजनाए देश के विकास में बाधक हैं।”
जो कि सम्प्रदाय विशेष को सन्तुष्ट करती हैं।
जिससे देश में बेरोजगारी की दर बढेगी ।
गरीबों का भविष्य असुरक्षित हो गाएगा।
दुनिया में भारत की साख गिर जाएगी ।
भारत का व्यापार घाटा बढ जाएगा।
भारत की आर्थिक प्रगति रुक जाएगी।
साथ ही वर्तमान विपक्ष की धारणा है कि-
” भूमि अधिग्रहण कानून के बन जाने पर
भारत का किसान खेती के साथ यदि औद्योगिक उत्पादन में बढाने लगेगा तो खेतों में कौन काम करेगा?
“किसान अपने खेतो में खाद्यान्न के साथ ही साथ यदि औद्योगिक कच्चे माल का उत्पादन करने लगेगा ( मेक इन इण्डिया कार्यक्रम के कारण) तो कहीं उसकी आर्थिक स्थिति खराब न हो जाए?”
“भूमि अधिग्रहण कानून के तहत गांवो की सडके-नहरे सीधी बन गई , वहां अस्पताल , विद्यालय, बैंक, खेल के मैदान , ग्रामीणों के आवास, मनोरंजक स्थल बन जाएंगे तो साठ से अधिक वर्षों से चैन की बंशी बजाते हुए सुखी जीवन जीने वाला हमारा ग्रामीण समाज कही खुशहाली से वंचित न रह जाए।
और हां जीएसटी कानून बन जाने पर पूरे भारत में सभी वस्तुओं व सेवाओं का कहीं एक ही मूल्य लागू हो गया तो राज्य सरकारों की मनमानी कैसे होगी ?
आदि- आदि
“यह साला नमो हमारे देश को डुबो कर ही छोडेगा ।”
यदि आप उपरोक्त बातों से सहमत नहीं हैं ,
आपके अनुसार यदि नमो दूरदर्शी है।
आपके अनुसार यदि नमो देश की प्रगति के लिए एक अवसर है
आपके अनुसार यदि नमो की योजनाओं से देश का वास्तविक विकास होगा।
नमो की विदेश यात्राओं का उद्देश्य पिकनिक नहीं देश की नकारात्मक छवि सुधारना व औद्योगीकरण के लिए अनुकूल वातावरण का सृजन करना है।
आपके अनुसार यदि नमो की योजनाओं का उद्देश्य सबका साथ सबका विकास के संकल्प पर आधारित हैं।
आपके अनुसार यदि नमो देश को विकास पथ पर अग्रसर कर सकते हैं तो –
” आपसे विनम्र अनुरोध है कि – “आप की लेखनी हृदय की ध्वनि का अनुसरण करती हुई अपना मौन तोडेगी।
“नमो का विरोध सिर्फ विरोध के लिए न करेगी।”
सम्पूर्ण विपक्ष इस बात पर एकमत है कि – “वह नमो को कोई भी कार्य खुलकर न करने देगी।”
आज के विपक्ष की धारणा-
” न देश का आधारभूत विविकास किया है और न ही करने देंगे। “
देश के राजनीतिक दलो का राजनैतिक संकल्प-
“धर्म , सम्प्रदाय, जाति , क्षेत्र व भाषा की हमने सदा राजनीति की है और करते रहेंगे।”
आओ नमो का खुलकर समर्थन करें।
नमो के कार्यकाल मे कोई भ्रष्टाचार न होगा।
नमो के कार्यकाल में न तो देश में और न ही विदेश में कालेधन का निर्माण होगा
और न ही देश का धन भ्रष्टाचार से विदेश मे ही जमा होगा।

Leave a Reply