तन्हाई मौत है या रब : जिया खां की निःशब्द खुदकुशी

0
427
views

बोल्ड, ब्यूटिफुल, बिंदास और मॉडर्न खयालात वाली इस कम उम्र की अदाकारा ने खुदकुशी क्यों की और इसके पीछे क्या क्या कारण हो सकते हैं, इसी की प़डताल कर रही हैं प्रियंका तिवारी. शायद दर्द ए गम और तन्हाई रास नहीं आई ज़िया खां को! 

अभिनेत्री ज़िया ख़ान ने 3 जून की रात लगभग 11 बजे अपने मुंबई के जुहू स्थित फ्लैट में पंखे से लटक कर खुदकुशी कर ली. उस वक्त जिया घर में अकेली थीं. उन्हें तुरंत अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया. मात्र 25 साल की उम्र में ज़िया द्वारा उठाए गए इस क़दम ने कई सवाल ख़डे कर दिए हैं. 

आज पूरा बॉलीवुड ज़िया खान की मौत पर दुख व्यक्तकर रहा है, लेकिन इस मुद्दे पर एक सवाल यह भी उठता है कि आख़िर ज़िया जैसी बिंदास और मॉडर्न खयालात वाली ल़डकी, जो ज़िंदगी से प्यार करती थी, जिसके कुछ सपने थे, जिसने पहली फिल्म इंडस्ट्री के शहंशाह अमिताभ बच्चन के साथ किया, जिसे अपने से दुगने से भी ज़्यादा उम्र के पुरुष के साथ इंटीमेंट सीन देने में भी कोई ऐतराज नहीं था, वह  अचानक डिप्रेशन में क्यों आ गई. और वे कौन सी परिस्थितियां थीं, जिनके कारण उन्हें अंतत: खुदकुशी करनी पड़ी. दरअसल, पोस्ट मॉर्टम रिपोर्ट में इस बात का खुलासा हुआ है कि उन्होंने खुदकुशी करने से पहले शराब पी रखी थी. उन्होंने फोन पर सुरज पंचोली से बात भी की थी.

गौरतलब यह है कि वर्ष 2007 में अमिताभ बच्चन के साथ जिया की पहली फिल्म आई थी नि:शब्द. इसके बाद वह आमिर के साथ गजनी और 2010 में और अक्षय कुमार के साथ फिल्म हाउसफुल में दिखीं. उन्होंने कुल तीन फिल्में कीं और तीनों ही ब़डे स्टार्स के साथ. हालांकि  वर्ष 2010 के बाद वह किसी फिल्म में नहीं दिखीं. ऐसा नहीं था कि वह हाथ पर हाथ धरे बैठी थीं, बल्कि इस बीच वह फिल्मों के लिए जी-जान से कोशिश कर रही थीं. और इसीलिए लगातार ऑडिशन भी दे रही थीं, लेकिन फिर भी काम नहीं मिल रहा था. हालांकि अचानक उन्हें मौका मिला केन घोष की फिल्म चांस पे डांस में शाहिद कपूर के अपोजिट काम करने का. इस फिल्म के मिलने के बाद वह काफ़ी उत्साहित थीं. वजह चाहे जो भी रही हो, लेकिन यह फिल्म भी उनके हाथ से निकल गई. उनकी जगह जेनेलिया डिसूजा को ले लिया गया.

अब सवाल यह उठता है कि क्या काफ़ी कम उम्र में स्टार कलाकारों के साथ काम करने की वजह से जिया के नखरे तो नहीं ब़ढ गए थे! वह रोल में तोल-मोल करने लगी थीं, क्योंकि हाल ही में जिस फिल्म का ऑडिशन देने वह हैदराबाद में गई थीं, उसमें उनकी भूमिका के लिए वेट ब़ढाने को कहा गया था, लेकिन इसके लिए वह तैयार नहीं हुईं. यह हम सभी जानते हैं कि फिल्मों में रोल के हिसाब से लुक्स चेंज करना ही पड़ता है. अमिताभ से आमिर तक सभी ने यह किया है. या फिर बात कुछ और थी! फिल्म इंडस्ट्री में ल़डकियों को फिल्मों में रोल देने के बहाने कई तरह से शोषण किया जाता है. आप कितने भी प्रतिभाशाली हों, लेकिन कहीं न कहीं किसी न किसी रूप में समझौते करने ही प़डते हैं. यह इंडस्ट्री का दस्तुर है. हम तो स़िर्फ अनुमान लगा सकते हैं, लेकिन वास्तविकता कहीं ज़्यादा घिनौनी है. आख़िर क्या वजहें थीं कि जिया को फिल्में नहीं मिल रही थीं. हालांकि यदि उनकी फिल्मों को देखा जाए, तो नि:शब्द के बाद अपनी बाकी दोनों ही फिल्मों में वह सहायक अभिनेत्री की भूमिका में थीं. यह भी हो सकता है कि जिया रोल्स को लेकर बहुत डिमांडिंग नहीं थीं. एक कारण यह भी हो सकता है कि इंडस्ट्री में काम न मिलने से वह बुरी तरह निराशा से घिर गई थीं. उनकी मां ने बातचीत के दौरान कहा कि वह इतनी मायूस हो गई थी कि वह इस प्रोफेशन को बदलने के लिए भी तैयार थी और इसीलिए कुछ समय से वह इंडस्ट्री छो़डकर इंटीरियर डिजाइनिंग का कोर्स करने की प्लानिंग कर रही थीं.

एक और बात गौर करने लायक यह भी है कि वर्ष 2007 में कई और अभिनेत्रियों ने इंडस्ट्री में दस्तक दी, जिनमें सोनम कपूर ने सांवरिया और दीपिका ने ओम शांति  ओम से अपना करियर शुरू  किया. ये दोनों आज टॉप पर हैं, लेकिन इनके रहते भी ज़िया को नोटिस किया गया और उन्हें फिल्म फेयर का बेस्ट फिमेल डेब्यू अवॉर्ड भी मिला. ज़ाहिर है, उन्हें न सिर्फ नोटिस किया गया, बल्कि उनके काम को सम्मानित भी किया गया. तात्पर्य यह है कि वह एक अच्छी अभिनेत्री थीं. उनके काम को सम्मान दिया गया और फिल्म फेयर अवॉर्ड देकर उनकी उम्मीदें और ब़ढाई गईं. इतनी तेजी से ऊपर जाने वाली जिया के करियर का ग्राफ बाद में इतना कैसे गिर गया कि उन्हें फिल्में ही नहीं मिल रही थीं, यह बताना फिलहाल मुश्किल है.

कहा जाता है कि प्रतिभाशाली होने के साथ ही साथ सामाजिक होना भी काफ़ी ज़रूरी होता है. फिल्मों में भाई भतीजावाद काफ़ी चलता है, यह तो जग जाहिर है, लेकिन जिया जैसी ल़डर्की जिसका अपना अलग अंदाज़ था, ज़िंदगी को जीने का, वह कभी बहुत चर्चा में नहीं रहीं, न ही वह अपने आप को चर्चा में रखने के लिए कभी ब़ढ च़ढ कर सामने आईं. दरअसल, उन्होंने एक तरह से गुमनाम ज़िंदगी से समझौता कर लिया. उनके साथ की ही अभिनेत्रियों का कई पुरुष कलाकारों के साथ नाम जोड़ा जाता रहा, लेकिन जिया के साथ कभी इस तरह की कोई गॉसिप नहीं रही. हालांकि एक दो विवाद उनके साथ भी जु़डे, लेकिन उन्होंने बहुत ही सरल तरी़के से उनका खंडन भी कर दिया. वह अलग थीं और उन्हें प़ढना लिखना बहुत पसंद था. वह एक अच्छी डांसर और एक अच्छी सिंगर भी थीं.

अभिनेत्री ज़िया ख़ान ने 3 जून की रात लगभग 11 बजे अपने मुंबई के जुहू स्थित फ्लैट में पंखे से लटक कर खुदकुशी कर ली. उस वक्त जिया घर में अकेली थीं. उन्हें तुरंत अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया. मात्र 25 साल की उम्र में ज़िया द्वारा उठाए गए इस क़दम ने कई सवाल ख़डे कर दिए हैं. उन्होंने अपनी मौत से कुछ समय पहले ट्वीट किया था कि कभी भी आपको अपने लिए वक्त नहीं मिलता और उसी वक्त की तलाश में आप भटकते रहते हैं. मुझे अपने विचार और सपनों को बटोरने के लिए छुट्टी की ज़रूरत है. उनके इस ट्वीट से लगता है कि जेहनी तौर पर बेहद भावुक थीं वह. उनका नाम आदित्य पंचोली के बेटे सूरज से जो़डा जा रहा है. अपनी मौत से पहले काफ़ी समय तक उन्होंने सूरज से बात की थी. उनके रिश्ते में कुछ तनाव चल रहा था. मतलब साफ़ है कि उनके जीवन में सबकुछ ठीक नहीं चल रहा था.

ज़िया ने बॉलीवुड के लिए अपना बहुत कुछ खोया, लेकिन अफसोस! बॉलीवुड ने ज़िया को नहीं अपनाया. सबसे पहले उन्होंने अपना नाम खोया. जिया का असली नाम नफीसा खान चौधरी था. उनका जन्म न्यूयॉर्क में हुआ था और शिक्षा दीक्षा इंग्लैंड में. वह न्यूयॉर्क के फिल्म इंस्टीट्यूट से ट्रेनिंग ले रही थीं, तभी उन्हें राम गोपाल वर्मा की फिल्म नि:शब्द का ऑफर मिला. उन्होंने फिल्म के लिए अपनी ट्रेनिंग बीच में ही छो़ड दी. हालांकि महेश भट्ट ने उन्हें सबसे पहले फिल्म तुम सा नहीं देखा का ऑफर दिया था, लेकिन रोल काफी मैच्योर होने के कारण ज़िया ने ठुकरा दिया, जिसे फिर बाद में दिया मिर्जा ने किया. वे अपनी मां के साथ मुंबई के एक घर में पिछले तीन साल से रह रही थीं.

जिया के डिप्रेशन की कई वजहें हो सकती हैं. दरअसल, वह जुहू स्थित सागर संगीत अपार्टमेंट में रहती थीं. जिस फलैट में थीं, उसकी कीमत 2 करो़ड रुपये से भी ज्यादा है. वह तीन साल से मुंबई में रह रही थीं और काफी समय से उनके पास काम नहीं था. ऐसे में फाइनांशियल क्राइसिस में भी चल रही थीं वह. इसके अलावा, वह अपने पर्सनल रिलेशन की वजह से भी काफी डिप्रेशन में थीं. गुस्सैल मिजाज की थीं वह. काम न मिलने के कारण पिछले कुछ समय से उनका च़िडच़िडापन ब़ढ गया था.

आमिर की स्टेप सिस्टर जिया
जब ज़िया ने बॉलीवुड में क़दम रखा था, तब यह चर्चा आम थी कि जिया आमिर की स्टेप सिस्टर हैं. ऐसा इसलिए भी कहा जाता था, क्योंकि जिया की मां अभिनेत्री राबिया आमिन और आमिर के पिता ताहिर हुसैन काफ़ी क़रीबी मित्र हैं. हालांकि इस बात का खंडन करते हुए ताहिर हुसैन ने कहा था कि वे और राबिया स़िर्फ अच्छे दोस्त हैं. ज़िया ने भी इस बात का खंडन कर दिया कि आमिर से उनका कोई रिश्ता नहीं है. बाद में वह फिल्म गजनी में आमिर के अपोजिट दूसरी अभिनेत्री के रूप में दिखीं.

नाम के साथ विवाद
फिल्मों में आने से पहले जिया ने अपना नाम ज्योतिषी से बाकायदा संपर्क कर के बदल लिया था. उन्होंने अपना नाम नफीसा ख़ान से बदल कर ज़िया ख़ान कर लिया था. तब ज्योतिषी ने उन्हें सलाह दी थी कि वह दुबारा अपना असली नाम प्रयोग नहीं करेंगी. लेकिन बॉलीवुड में फिल्में न मिलने के कारण कुछ समय से वह अपना असली नाम नफीसा दुबारा प्रयोग करने लगी थीं.

ग्लैमर वर्ल्ड के और भी सितारों ने की खुदकुशी
टॉप मॉडल विवेका बाबाजी ने भी वर्ष 2010 में अपने अपार्टमेंट में सीलिंग फैन से लटक कर खुदकुशी कर ली. वह भी अपनी मौत से कुछ समय पहले डिप्रेशन में चल रही थी. साउथ की जानी मानी अभिनेत्री सिल्क स्मिता ने कम उम्र में ही काफ़ी नाम और पैसा कमाया, लेकिन बाद में इंडस्ट्री के दोहरे रवैए के कारण उन्हें फिल्में मिलनी कम होने लगीं. पैसे की कमी और घोर निराशा के बीच एक दिन सिल्क ने अपने फ्लैट में खुदकुशी कर ली. जानी मानी मॉडल और एक्ट्रेस कुलदीप रंधावा ने भी अपने जुहू के अपार्टमेंट में अपनी जीवन लीला समाप्त कर ली. उन्होंने अपने सुसाइड नोट में लिखा था कि वह जीवन के मुश्किलों के साथ समझौता कर पाने में असमर्थ हैं. मॉडल और वीजे नफीसा जोजफ ने भी वर्ष 2004 में सुसाइड कर ली. उनकी मौत के बाद उनके घरवालों ने बताया कि वह कुछ समय से डिप्रेशन में चल रही थीं. 

अभिनेत्री ज़िया ख़ान ने 3 जून की रात लगभग 11 बजे अपने मुंबई के जुहू स्थित फ्लैट में पंखे से लटक कर खुदकुशी कर ली. उस वक्त जिया घर में अकेली थीं. उन्हें तुरंत अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया. मात्र 25 साल की उम्र में ज़िया द्वारा उठाए गए इस क़दम ने कई सवाल ख़डे कर दिए हैं. – See more at: http://www.chauthiduniya.com/2013/07/%e0%a4%a4%e0%a4%a8%e0%a5%8d%e0%a4%b9%e0%a4%be%e0%a4%88-%e0%a4%ae%e0%a5%8c%e0%a4%a4-%e0%a4%b9%e0%a5%88-%e0%a4%af%e0%a4%be-%e0%a4%b0%e0%a4%ac-%e0%a4%9c%e0%a4%bf%e0%a4%af%e0%a4%be-%e0%a4%96%e0%a4%be.html#sthash.MoOrz0P3.dpuf
Loading...
loading...

Leave a Reply