सेन्ट्रल एक्साइज और सर्विस टैक्स रजिस्ट्रेशन से होगी जीएसटी की रजिस्ट्रेशन

0
244

Displaying IMG20170316143102.jpg

वस्तु एवं सेवा कर 1 जुलाई, 2017 से लागू होने की उम्मीद है। ऐसे में जीएसटी को लेकर जागरूकता फ़ैलाने के लिए सरकार ने केंद्रीय उत्पाद शुल्क और सीमा शुल्क बोर्ड (सीवीईसी) के तहत देश में सभी क्षेत्रीय कार्यालयों में वस्तु एवं सेवाकर संबंधी कार्यक्रमों को आयोजित कर के जागरूकता फ़ैलाने के निर्देश दिए हैं। इस मौके पर देवेन्द्र मिश्रा, मुख्य आयुक्त केंद्रीय उत्पाद ने व्यापारियों को जीएसटी से सबंधित उनके जिज्ञासा का समाधान किया। इस मौके पर जीएसटी एक्सपर्ट बिमल जैन भी मौजूद थे।

केंद्रीय और राज्य सरकारों के अधिकारियों के लिए वस्तु एवं सेवाकर को लेकर ट्रेनिंग देने के लिए नेशनल एकेडमी ऑफ़ कस्टम एक्ससाइज एवं नारकोटिक्स द्वारा आज Noida में कार्यक्रम का आयोजन किया गया। जीएसटी को लेकर यहाँ अधिकारियों और व्यापारियों को ट्रेनिंग दी गई। विभागीय अधिकारियों को यहां संबंधित व्यापारियों को मार्गदर्शन के लिए ट्रेनिंग के लिए निर्देश दिया गया। वैभव भटनागर अस्सिस्टेंट कमिश्नर सेन्ट्रल एक्ससाइज ने बताया कि जीएसटी के बाद देश में एक ही टैक्स लगेगा। कंज्यूमर को इससे फायदा होगा, क्योंकि जीएसटी के बाद मल्टिपल टैक्स रेट हट जायेगा। हम जीएसटी को लेकर सेमिनार आयोजित कर रहे हैं, ताकि व्यापारी और आम लोगों को जीएसटी से संबंधित तमाम जानकारी मिल सके। केंद्र और राज्य दोनों मिलकर जीएसटी लागू करेंगे। ऐसे में केंद्र और राज्य मिलकर जीएसटी को लेकर जागरूकता अभियान चला रहे हैं ।

व्यापारियों को और आम आदमी को अब सेन्ट्रल एक्साइज और सर्विस टैक्स रजिस्ट्रेशन से अब जीएसटी की रजिस्ट्रेशन लेनी पड़ेगी । वे रजिस्ट्रेशन gst.gov.in पर कर सकते हैं । सेन्ट्रल एक्साइज की वेबसाइट से प्रोविजनल आईडी दे दी गई है, इसी से जीएसटी की वेबसाइट पर लॉग इन करना होगा । इसके लिए हमने सेवा केंद्र शुरू किया है, ताकि जीएसटी नंबर लेने के लिए किसी को भी समस्या आ रही है तो उसका समाधान किया जा सके।वे हमसे टेलीफोनिक या यहाँ आकर तमाम जानकारी हासिल कर सकते हैं। एक्ससाइज ऑफिस में हम उनका रजिस्ट्रेशन भी करा रहे हैं।

Loading...
loading...

Leave a Reply